Best Adsense Ads For Mobile In Hindi | Increase Adsense CTR

Best Adsense Ads For Mobile In Hindi | Increase Adsense CTR

Best Adsense Ads For Mobile In Hindi | Increase Adsense CTR

मोबाइल के बढ़ते प्रयोग के कारण दुनिया की हर कंपनी ने अपने आप को मोबाइल compatible बना लिया है और अगर आप किसी वेबसाइट के owner हैं तो आपको भी अपनी website का design mobile compatible ही बनाना पड़ेगा या यूँ कहे की अपने blog को responsive banana अब ज़रूरी हो गया है।

अगर यही बात जब हम earning के लिए करते हैं तो adsense ads responsive होने चाहिए। लेकिन ऐसा ज़रूरी नहीं कि आप अपने ads को responsive ही बनाये। मेरी सलाह है, की सबसे पहले google search consoleमें जाकर अपनी website के बारे में ये जानकारी ले कि आपकी वेबसाइट पर mobile ट्रैफिक कितना है। अगर यह traffic ज्यादा है तो आपको अपनी website mobile friendly बनानी पड़ेगी।

आज के article में हम बात करेंगे कि mobile site ke liye adsense ad unit kaun si lagani chahiye. कौन से ads adsense में लगाये जिससे CTR ज्यादा मिले और ज्यादा clicks आये। वैसे ये टाइम ऐसा चल रहा है, जसमें hindi bloggers को बहुत कम cpc मिल रहा है, और हिंदी language का blogger blogging में परेशांन है। अगर ऐसा होता है कि ctr ज्यादा हो जाये तो adsense ads पर ज्यादा click आने से भी earning jyada हो जायेगी।

Adsense ads for mobile sites in hindi:

Adsense policy के हिसाब से ज्यादा बड़े size के ads unit mobile में nahin लगाने चाहिए, और खास तौर पर big size ads above the fold नहीं होने चाहिए। तो पहले तो मैं आपको ये बताऊंगा कि best adsense ad unit कौन सी हैं, फिर कुछ ऐसे पॉइंट्स बताऊंगा, जो की adsense को पसंद नहीं हैं। ब्लॉग area के हिसाब से बात करते हैं कि कौन सा ad kaha लगाना चाहिए।

Ads on Header:

Header ads की बात करे तो header ads का ctr बहुत कम रहता है, लेकिन ध्यान रहे, header ads पर आने वाले clicks का cpc सबसे अधिक होता है।
तो अगर आप header पर कोई ad लगाना चाहते हैं तो आपको केवल यही ads लगाने चाहिए।
  • Responsive ad unit
  • 310×100 ad unit या
  • Responsive ad link

Ad link का ctr अच्छा होता है लेकिन इससे किसी किसी publisher को कम cpc मिलती है। तो अगर आपको jyada cpc मिल रही हो तो आप adlink का use करें।

ज़रूर पढ़ें: Adsense Apply karne se pahle kya kare

Adsense ad unit below post title:

Post title ke neeche ads kaise lagate hai, अगर आपको यह पता है, या आप अपने ब्लॉग website में कोई ऐसी plug-in का इस्तेमाल करते हैं जिससे आपके ब्लॉग में post title के neeche ads आते हों। तो आपको यहाँ कौन से ads लगाने हैं।
  • Responsive adsense unit
  • 336×280 ad unit
  • 300×250 ad unit
  • 310×100 ad unit या
  • Responsive ad link
ऊपर दी गयी सभी ads पोस्ट title के नीचे अच्छा perform करती हैं। और सभी ads का ctr अच्छा रहता है। देखा जाये तो पोस्ट टाइटल के नीचे के ads सबसे अच्छा earning देते हैं। फिर भी अगर आप यह पूछते हैं कि कौन सी ad की ctr सबसे ज्यादा है तो मैं कहूंगा Responsive ad link की या आप इसकी जगह 200x 90 की ad link का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसी तरह अगर बात की जाये की पोस्ट के अंदर कौन सा ad लगाना चाहिए, तो आप कोई सा भी ad लगाये। बस आपको adsense policy को follow करना है।

ज़रूर पढ़ें: अपनी Website में Free Share Widget कैसे लगाये

Adsense ads on side bar:

बहुत कम adsense publisher sidebar ads से पैसे कमा पाते हैं, मैं मोबाइल version की बात कर रहा हूँ। क्यों कि मोबाइल site में sidebar सबसे नीचे आ जाता है, और वह तक बहुत काम user ही पहुँच पाते हैं। अगर आपके पास 30- 40% user desktop से आ रहे हैं तो आपको sidebar ads लगाने चाहिए, तो चलिए बात करते हैं adsense ads for sidebar.
  • 300×600 ad unit
  • 336×280 ad unit
  • 300×250 ad unit
ये सभी ads sidebar पर use किये जाते हैं। तो अभी तक आपने ये जान लिया है कि best adsense ads for mobile sites.  अब आपको मैं कुछ points बता फाहा हूँ जिससे आपको अच्छा cpc और ctr मिलेगा।

Adsense tricks and tips for high CTR:

Cpc और ctr दोनों ही ऐसे point हैं जो कि एक adsense publisher के लिए बहुत ज़रूरी हैं। आप अपने blog ke cpc ko badha sakte hain iske liye bahut si tips and tricks hoti hain, jinme se sabse important trick hai ads block karke cpc badhana, to iske bare me maine pahle bhi likha hai, jise aap padh sakte hain. अब आप केवल ये points याद रखें।

  • High ctr के लिए text and images ads होना बहुत ज़रूरी है। क्यों कि adsense इसे ही recommend करता है।
  • Blog title के नीचे ad link का ही इस्तेमाल करें।
  • Header ads पर सबसे कम क्लिक आते हैं लेकिन adlink को लगाने से उल्टा हो जाता है। आप 2 दिन के लिए adlink लगाकर देखें।
  • Header और blog title के नीचे दोनों में से किसी एक में ही adlink का use करें।
  • Above the fold का मतलब है कि जब कोई user आपकी साइट पर आता है तो उसके सामने जितना page बिना scroll के open हो।
  • अब बात है above the fold एक या दो ads से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
  • जब पेज ओपन हो तो दूसरा ad 50% से ज्यादा नहीं दिखना चाहिए। इसका मतलब हुआ जब user के सामने पेज open हो तो above the fold 1.5 advertisement दिखना चाहिए।
  • Post के अंदर ads का use करें, हो सके तो sidebaar में न करें।
  • हलाकि adsense ने ads की limit को खत्म कर दिया है फिर भी अगर देखा जाये तो आज भी total 6 ads और 2 search ads ही लगाना ज्यादा फायदा देता है। 6 ads में 3 ad link और 3 ad unit शामिल है।
  • अगर आप अपने एक ब्लॉग में दो users से ads शो कर रहे हैं तो आप 6 एड्स ऐ ज्यादा एड्स लगा सकते हैं।
  • Footer पर adsense ads का इस्तेमाल न करें इससे आपको काम cpc और काम ctr मिलेगा।
  • Adsense में जल्दी जल्दी changes करना भी अच्छा नहीं है, इसलिए आप एक report लेने के बाद ही ads change करें।
  • अगर आप इंडिया के है। और आपके पास केवल indian ट्रैफिक है तो आपको cpc बहुत कम मिलेगी, other countries से click आना भी बहुत ज़रूरी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *